Adblock Detected!

*Please disable your adblocker or whitelist a2zupload.com
*Private/Incognito mode not allowed.
error_id:202

प्रधानमंत्री ने सीएसआईआर सोसायटी की बैठक की अध्यक्षता की वैज्ञानिकों से वास्तविक समय सामाजिक म



नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वैज्ञानिकों से कृषि उत्पादों में मूल्य वृद्धि प्रदान करके कुपोषण जैसे देश के सामने आने वाले वास्तविक समय सामाजिक मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करने का आग्रह किया है
वैज्ञानिक परिषद और (सीएसआईआर) समाज की बैठक की अध्यक्षता करते हुए शुक्रवार को मोदी ने आभासी प्रयोगशालाओं के विकास पर बल दिया ताकि विज्ञान देश के हर कोने में सभी छात्रों को और आगे ले जाया जा सकता है
प्रधानमंत्री कार्यालय के एक बयान के अनुसार उन्होंने विज्ञान की ओर युवा छात्रों को आकर्षित करने और आगे अगली पीढ़ी में वैज्ञानिक कुशाग्र बुद्धि को मजबूत करने की आवश्यकता पर बात की
प्रधानमंत्री ने विश्व के विभिन्न भागों में कार्यरत भारतीयों के बीच अनुसंधान एवं विकास परियोजनाओं में सहयोग बढ़ाने के उपायों का भी सुझाव दिया ।
वैज्ञानिकों को भारत की आकांक्षापूर्ण जरूरतों पर काम करने की मांग करते हुए उन्होंने कहा कि कृषि उत्पादों और जल संरक्षण में मूल्यवर्धन के माध्यम से भारत द्वारा कुपोषण जैसे वास्तविक समय सामाजिक मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करने के लिए सीएसआईआर की जरूरत है ।
प्रधानमंत्री मोदी ने 5 जी वायरलेस टेक्नोलॉजी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और नवीकरणीय ऊर्जा भंडारण के लिए किफायती और लंबे समय तक चलने वाली बैटरियों को उन उभरती चुनौतियों के रूप में सूचीबद्ध किया जिन पर वैज्ञानिकों को ध्यान केंद्रित करने की जरूरत है ।
उन्होंने कहा कि विश्व स्तरीय उत्पादों को विकसित करने के लिए आधुनिक विज्ञान के साथ पारंपरिक ज्ञान गठबंधन की जरूरत पर प्रकाश डाला प्रधानमंत्री ने नवप्रवर्तन के व्यावसायीकरण के महत्व के बारे में भी बताया ।
मोदी ने आम आदमी के जीवन की गुणवत्ता में सुधार लाने की दिशा में काम करने के लिए सीएसआईआर में वैज्ञानिक समुदाय का आह्वान किया

comments